Hindi Love Story

love is life and there is best collection of love story

Awesome Year Ahead

something in heart please do better for your heart and hindi love story is a best story site you can read here best heartouching love stories

Breaking

Friday, November 16, 2018

November 16, 2018

hindi love story sad heartouching

hindi love story sad heartouching

ज़िन्दगी से हार मान कर प्रभास रात के अंधेरे में हाथ मे चाकू लेकर एक छोटी सी गली में ठहर गया

वो खुद को खत्म करना चाहता था उसने चाकू की तेज धार से अपने दाहिने हाथ की नस पर वार कर दिया खून तेज़ी से बहने लगा तभी खिड़की पर खड़े एक बुजुर्ग ने उसे देख लिए ओर नीचे आकर वो प्रभास को अपने घर अंदर ले गया
hindi love story

उसने प्रभास के हाथ पर पट्टी बांध दी , कारण पूछने पर प्रभास ने बताया वो चार साल से नौकरी की तलाश में लगा हुआ था पैसा ना होने की वजह से उसकी माँ बीमारी से तड़प तड़प कर मर गयी लेकिन किसी ने भी उसे अच्छी नोकरी नही दी

वो अपनी बीएससी की डिग्री लेकर बोहोत जगहा गया लेकिन हर जगहा से उसे सिर्फ कम पैसे देने की वजह से जॉब छोड़नी पड़ी और अब उसके पास जीने की कोई वजह नही है उसका ना खुद का घर है ना कोई अपना

ये सब सुनकर बुजुर्ग बाबा को उसपर बहोत दया आ गयी उन्होंने उसे आने यहाँ खाना बनाने के लिए रखने का प्रस्ताव दिया प्रभास मान गया ,  बाबा ने ये भी कहा वो उसे इस काम के पैसे और रहने के लिए कमरा भी देंगे !

ये सब बातें प्रभास की समँझ में अच्छे से आगयी प्रभास देखने मे खूबसूरत और सरीर में भी काफी चौड़ा था वो शुभा को बाबा के लिए खाना बना देना और घर की साफ सफाई भी अच्छे से करता

लगभग छै दिन यू ही गुज़र गए प्रभास अब बाबा को भी प्रभास पर पूरा भरोसा हो गया था वो अब घर को प्रभास के भरोशे छोड़ कर कही भी जा सकते थे !

एक दिन जब बाबा मंदिर गए हुए थे तो एक लड़की घर के अंदर आयी उस लड़की ने देखा रसोई घर मे कोई खाना बना रहा है ,, सीधा अंदर आ गयी ओर पूछने लगी तुम कौन हो

प्रभास एक दम सिटपिटा गया बला सी खूबसूरत लड़की उस से उसके बारे में पूछ रही थी

वो कहने लगा मैं इस घर मे नोकर हु आप कौन हो यहाँ किस लिए आई हो

वो कहने लगी मेरा नाम निशा मैं मेरे दादाजी से मिलने आए हु ओर ये घर हमारा है तुम यहाँ कब आये

लगभग सात दिन पहले प्रभास अपनी पूरी कहानी बताने लगा तो वह उसके बारे में सुनकर अपने कमरे में जाकर लेट गयी

निशा के दादाजी जीने प्रभास बाबा कहता तो वो घर पर आगये वो अपनी पोती को देखकर खुश हुए और प्रभास के बारे में बताने लगे

निशा कहने लगी मुझे सब पहले ही पता चल चुका है इसने मुझे बता दिया

अगले दिन जब निशा शुभा उठी तो उसने देखा प्रभास झाड़ू लगा रहा था झाड़ू लगाने के बाद उड़ने अपने कपड़े उतारे ओर Exa size करने लगा

निशा बेड पर लेटी उसके विशाल और गोरे सरीर को देख रही थी और वो उसे देखती ही रह गयी जब प्रभास खाना बनाने गया तो उसके साथ निशा सरोई में आ गयी

वो कहने लगी ,, प्रभास में आपकी कुछ मदत करू ,

नही निशा आप रहने दो मैं कर लूंगा ये मेरा काम है आप जाओ और बाबा के साथ थोड़ा बाहर टहल कर आओ ये सुनकर निशा चली गयीhindi love story

थोड़ी देर बाद सबने मिलकर खाना खाया ओर निशा अपनी scoorty लेकर कॉलेज चाकी गयी , अब निशा के मन मे प्रभास को लेकर अजीब सी feeling आने लगी उसकी आँखों के सामने से वो शुभा का मंजर ओझल होंने का नाम नही ले रहा था उसने hostel में रहना छोड़ कर अपने घर से कॉलेज जाना शुरू कर दिया

शाम जल्दी कॉलेज से आई और आते ही प्रभास को देखने लगी और कहने लगी प्रभास आपकी racing कैसी है प्रभास कहने लगा अछि है
आप कल मेरे कॉलेज में racing compitition है और आपका  नाम मैन लिखवा दिया है कल चलना है मेरे साथ

तुम प्रभास कहने लगा ठीक है लेकिन आप मुझे आप कहकर बात मत किया करो तुम से काम चल जाएगा तो निशा हँसने लगी ,

प्रभास अपने कमरे में नीचे सोता था लेकिन निशा ने ये बात पता नही थी

रात जब उसकी आंखें खुली तो उसने देखा प्रभास सी रहा है कमरे का दरवाजा बंद था वो खिड़की से झाक कर उसे देखने के बाद आकर सो गई

शुभा दादाजी से permission लेकर वो प्रभास को लेकर कॉलेज जाने लगी तो प्रभास कहने लगा क्या मे driving करू निशा कहने लगी नही मुझे ही करने दो

प्रभास निशा से थोड़ी दूर हटके बैठ गया लेकिन निशा ने ब्रेक लगा लगा कर उसे अपने बिल्कुल करीब कर लिया वो बार बार कह रहा था धीरे चलाओ निशा धीरे ,,

निसा को यकीन था यर race प्रभास ही जीतेगा ओर यही हुआ लेकिन ये race जितना इतना भी आसान नही था 100 लोगो मे प्रभास का पहला number था
निशा ने प्रभास को race जीतते ही जोर से huge कर लिया लेकिन

ये बात प्रभस को बिल्कुल भी अच्छी नही लगी ओर उसने निसा को खुद से अलग करके गिरा दीया हाला की वो गिराना नही चाहता था लेकिन वो गिर गयी और उसके पैर पे चोट लग गयी निसा की friends उसे उठा कर ले गयी और उस से पूछने लगी ये लड़का कौन है दिखने में तो काफी smart ओर handsome है तो निशा कहने लगी मेरा दोस्त ही है !

प्रभास निशा को लेकर घर आगया ओर निसा से माफी मांगने लगा निसा का पैर ठीक हो चुका था लेकिन वो फिर भी बहाने बना रही थी रात को खाना खाने के बाद निशा ओर बाबा व प्रभास  तीनो सोने चले गए

निशा उठी और दादाजी के कमरे में गयी उसने नशे वाला परफ्यूम दादाजी के चेहरे पर छिड़क दिया

ओर प्रभास के कमरे की तरफ गयी दरवाज़ा खटखटाने लगी
प्रभास उठा और कहने लगा
-----------------
निशा क्या हुआ
प्रभास मेरे पैर में बोहोत दर्द हो रहा है please मेरे साथ मेरे कमरे में चलो ओर moove लगा दो ,,
तुम चलो निशा मैं आता हूं इतना कहकर प्रभास निशा के पास आया और उसके पैर में moove लगाने लगा निशा उसको बोहोत रोमांटिक अंदाज़ से देख रही थी उसने दर्द का बहाना करके प्रभास का हाथ पकड़ लिया निशा के कोमल हाथो का स्पर्श प्रभास को अच्छा लगा मगर वो एक नोकर था और उसे अच्छे से पता था अगर उसने कुछ भी ऐसा  वैसा किया तो बाबा उसको कभी माफ नही करेंगे

वो काफी देर तक पैरो की मालिश करता रहा निशा अपने प्यारे प्यारे गाल प्रभास की गोद मे रखने लगी तो प्रभास नींद का बहाना करके कहने लगा मैं जा रहा हु निशा शुभा बात करते हैं और वो वहां से चला गया

निशा को बोत तेज़ गुस्सा आ रहा था वो गुस्से में सो गई और शुभा कॉलेज बिना कुछ खाये चली गयी , कॉलेज से आने के बाद प्रभास ने पूछा तो कुछ नही बोली ओर कमरे में जाकर सो गई

शाम को भी खाना नही खाया दादाजी ने पूछा तो कॉलेज में खा लिया है कहके सोने लगी

प्रभास भी दुखी था ये सोच अगर निशा को कुछ हो गया तो परेशानी और बढ़ जाएगी ज्यादा सोचे के बाद भी कोई हल नही निकला तो  वह सो गया निशा ने फिर से दादाजी के चेहरे पर नशे का परफ्यूम छिड़क  दिया और अपने कमरे में आ गयी

ज़ोर ज़ोर से खाँसने लगी प्रभास ने आवाज सुनी तो वो भाग कर पानी लेकर आया जैसे ही वो निशा के कमरे में घुसा उसके दिनों पैरो में कांच लग गया और वो दर्द से चीखता हुआ बैठ गया निशा उठी और उसको अपने बेड पर बिठा दिया डेटोल जे ज़ख्मो को साफ करने लगी वो कांच निशा ने ही कमरे के बाहर रक्खे थे और प्रभास से कहने लगी प्रभास अब तो तुम चल भी नही पाओगे तुम मेरे बेड पर सो जाओ और मैं तम्हारे कमरे में सो  जाती हु

नही निशा तुम उस कमरे में मत जाओ उसमे नीचे सोना पड़ेगा और Ac भी नही है तुम सो नही पाओग

निशा कहने लगी ठीक है मैं ओर तुम दोनो साथ मे सो जाते है ओर मैं खाना लेकर आती हु भूक लग रही है

खाना खाने के बाद जब निशा वापस आयी तो प्रभास सो चुका था निशा प्रभास के पास आई और उसके चेहरे पर अपने बालों को गिरा कर उसके गाल पर अपने गुलाब से कोमल होठो से kiss कर दिया

प्रभास जग गया और कहने लगा आप ये क्या कर रही हो आपको पता भी है ये कितना गलत है और मैं तो एक नोकर हु तुम मेरे बारे में क्या जानती हो

रिया खुद को रोक नही पायी ओर कहने लगी प्रभास तुम तो हालात  की वजह से यहाँ नोकर हो वरना तो आज तुम किसी ओर के होते और मैं बोहोत खुश हूं तुम मेरे सामने हो  मेरी सारी friends तुमपे मरती है तुम इतने सुंदर हो लेकिन क्या मैं तुम्हे पसंद नही देखो मेरी आँखें मेरा चहेरा क्या तुम्हे इनमें तड़प ओर प्यार नज़र नही आता इतना कहकर निशा ने प्रभास के होठो को चूम लिया और उसे खुद में समेटने लगी

प्रभास ने रिया को खुद से अलग कर दिया और कहने लगा निशा ये सब गलग है और तुम please मुझे भूल जाओ मैं शुभा तुम्हारा घर छोड़ दूंगा
ये सुनके निशा रोने लगी ओर चाकू उठा लिया

hindi love story
प्रभास अगर तुमने मुझे अपना प्यार नही दिया तो मैं खुद को मार दूंगी प्रभस डर गया और चाकू उसके हाथ से छीन लिया तो निशा उसके पैरों में गिर गयी और कहने लगी मैं पूरी ज़िंदगी ऐसे ही करती रहूंगी जबतक तुम नही मिलोगे

प्रभास ने निशा को उठाया और गले से लगा लिया निशा बोहोत ही खुश हो गयी थी निशा ने फिर से प्रभास के होठो को चूमना शुरू कर दिया और दोनों एक दुशरे को रात भर प्यार करते रहे

शुभा दादाजी ने देखा तो प्रभास खाना बना रहा है और रिया देर तक सो रही थी तो दादाजी कहने लगे बेटा आज कबतक सोवोगे

तो निसा हड़बड़ा के उठी और जल्दी से अच्छे से कॉलज के लिये तैयार हो गई वी खाना खा कर रसोई में गयी और प्रभास को kiss करके कॉलेज चली गयी वो दोनों लगभग 30 दिन इसी तरह एक दुशरे ओर जिस्मानी प्यार करते रहे उसके बाद निशा कॉलेज टूर पे चली गयी


3 से चार महीने तक वापस नही आई तो प्रभास को उसकी चिन्ता होने लगी और उसने अपने जोड़े हए पैसो से bike ली और उसको ढूंढना शुरू कर दिया निशा उसे मिल गईं उसने निशा से पूछा तुम कहा थी अबतक मैं कितना परेसान हु

तो निशा कहने लगी प्रभास बोहोत बड़ी problem हो गयी जी मेरे पेट मे तुम्हारा baby है i am pregnant प्रभास भी डर गया baby को लगभग 4 से 5 महिने निशा कर पेट मे हो चुके थे और वो hostel से अलग अपनी friend के room पर रह रही थी

प्रभास उसे वाह से ले आया और एक अलग कमरा किराये पर लेकर उसके लिए छोड दिया कमर अच्छा था और निशा वहां safe  भी थी

प्रभास ने doctor से बात की तो doctor ने मना कर दिया और paise बिहोत ज्यादा मांगे इतने उन दोनो के पास थे मगर फिर निशा ने मना कर दिया

ये मेरा बच्चा है और मैं अब इसको ।ऐसे मरने नही दूंगी तुम जाना चाहते हो तो चले जाओ मगर जितना प्यार मैं तुमसे करती हूं उतना ही इस बच्चे से


9 महीने तक निशा घर नही आई अपने ददाजी को बहाना बना बना कर बताती रही के hostel में है उसने एक प्यारे से लड़के को जन्म दिया प्रभास ओर निशा दोनो उसके लेकर घर आ गए दादाजी ने पूछा तो निशा कहने लगी ये मेरी friend का बेटा है उसी death हो गयी तो उसके husband ने मेरे पास छोड़ दिया है कुछ दिनों के लिए

लेकिन बात छुपी नही कुछ दिनों में निशा के dady को सब पता चल गया और उन्होंने निशा को बोहोत डाटा लेकिन लेकिन वो अपनी बेटी से बिहोत प्यार करते थे उन्होंने उसकी शादी धूम धाम से प्रभास के साथ कर दी -






Monday, November 12, 2018

November 12, 2018

Hindi Love Story Anuj And Neha

Hindi Love Story Anuj And Neha 

सच्चा प्यार तो दोस्तो सच्चा ही होता है वैसे तो लोग सच्चे प्यार को मजाक समंझते हैं लेकिन असल मे सच्चा प्यार जिन लोगो को नही मिलता या जो लोग अपनी ज़िंदगी मे सबकुछ छोड़ कर कामयाबी के पीछे भागते है वही लोग कुछ हद तक सच्चे प्यार से दूर रह जाते हैं
Hindi Love Story Anuj And Neha


 आज की कहानी है अनुज की जो कि अपना खुद का jym चलाया करता था कहने को तो वो एक ट्रेनर था लेकिन उसकी दोस्ती सबसे एक भाई व बहन की तराह थी नेहा उड़ी jym में traning के लिए आती थी

वो अनुज को बोहोत ही पसंद करती थी मगर वो ये बात उस से कह नही पा रही थी एक दिन उसने हिम्मत करके उस से ये बात बोलने की ठान ली

ओर अजुन से कहने लगी अनु4ज आप मुझे आज शाम को चार बजे बाहर रोड पर मिलना कुछ दिखाना है ,अनुज इस बात से अनजान था

लेकिन वो नेहा के बुलाने पर आ ही गया तो नेहा उस से कहने लगी अनुज मुझे आपसे कुछ कहना है ओर उसने directly बोल दिया i love you अनुज !

अनुज ने उसे बोहोत डाटा ओर समझाया ,लेकिन नेहा के सर पर प्यार का भूत सवार था वो बस अजुन से प्यार करती थी वो भी सच्च !

लेकिन नेहा को नही पता था के ऐसा कुछ हो जाएगा वो दिखने में तो खूबसूरत थी लेकिन अनुज ने उसे नही अपनाया
Hindi Love Story Anuj And Neha


गुस्सा ओर फितूर उसके दिमाग पर चढ़ चुका था उसने अनुज से बोलना  मानो बिल्कुल बंद ही कर दिया था अनुज उस से एक रोज sorry बोलने लगा

तो वह कहने लगी मैं तुमसे अनुज बोहोत ज्यादा प्यार करती हूं तुम मुझसे शादी कर लो , ये सुनके अनुज को ओर गुस्सा आ गया और उसने नेहा को jym से बाहर न
निकाल दिया

नेहा भी बोहोत गुस्से में थी उसे लगा कि अनुज ने उसकी सबके सामने insult कर दी है और वो बदला लेने का प्लान बनाने लगी

उसने अनुज को शाम 5 बजे कॉल किया अनुज ने कॉल recived किया तो उस से कहने लगी sorry अनुज आप अपनी fees ले जाओ आकर

ओर मैं तो पागल हु मुझे कुछ नही पता तुम मुझे माफ़ कर दो कुछ भी बोल देती हूं

अनुज ने आने के लिए हां कर दी क्योकि पैसो के लिए ही वो jym चलता था और traning देता था वो पैसे लेने जब गया तो नेहा ने उसे गले से लगा लिया
Hindi Love Story Anuj And Neha


वो इस चीज को अभी तक normal समँझ रहा था थोड़ी देर बाद नेहा कहने लगी sorry अनुज तुम अब ओर नही जी सकते

तुम मेरे नही हो सकते तो मैं किसी ओर का भी तुम्हे होने नही दूंगी नेहा ने चाकू उठाया ओर अनुज का क़त्ल कर दिया

अनुज ने तड़प तड़प कर वहीं दम तोड़ दिया और नेहा को जेल हो गयी,

Sunday, November 11, 2018

November 11, 2018

Best Hindi Love Story Part Second

Best Hindi Love Story Part Second 

अगर आप लोगो ने इस कहानी का पहला भाग नही पढ़ा है तो यहाँ से पढ़े 
                         Hindi Love Story Part 1
वो मुझसे phone करने लगा कि वह मुझे देखने घर आ रहा है तो मैंने उसे मना कर दिया धीरे धीरे मैं ठीक हो गयी लेकिन एक अजीब सा एहसास मुझे उसकी तरफ खिंच कर ले गया मानो मैं उस से मिले बिना रह नही पायउँगी उसको देखने का बोहोत मन कर रहा था मैंने उसे call किया तो वह आ भी गया उसके आते ही मैं खुद को रोक नही पाई और उसके सीने से जा लगी तो वह कहने लगा areee स्नेहा तुम भी ना तुम्हारा रवि अभी तुम्हे छोड़के गया थोड़ी ना है जो ऐसे रोया से चेहरा बना लिया है तुमने
फिर वो मुझे पार्क में ले गया वाहा हम दोनों ने ice cream खाई मैं बिहोत खुश थी!
Hindi love story part 2

उसने मेरी खुशी के लिए इतना सब कुछ किया और मुझे इतना प्यार दिया मानो मुझे मेरी दुनिया मिल गयी हो !मगर एक रोज कुछ ऐसा  हुआ हम दोनो ही bike से गिर गए उसको बोहोत चोट आ गयी हमने घर नही बताया मैन अपनी saving money से उसका सारा treatment कराया hospital से तो वह ठीक होकर आगया लेकिन बिल्कुल ठीक। नही था, तो मैंने उसे अपने दुशरे घर मे shift कर दिया ओर उस से 7 दिन वही रहने की ज़िद की

क्योकि मेरा भी अब दिल उसके बीना नही लगता था मैं शुभा 9 बजे उसके पास पोच जाती थी हम दोनों पूरे दिन बात करते और मैं उसके लिए एक पत्नी की तरह शुभा जाकर खाना बनाती ,ओर शाम को वहाँ से आते समय भी ,  वो बिल्कुल फिट हो गया और कहने लगा आज आखिरी दिन है और मैं बिल्कुल ठीक भी हो गया हूं क्या मैं जा सकता हु मेरी प्यारी सी परी

तो मैं कहने लगी आज रात ओर रुक जाओ मुझे तुम्हारे पास रहना है फिर तो तुम मुझे तड़पाओगे ओर मिलोगे भी नही वो कहने लगा ठीक है स्नेहा मैं रुक जाता हूं , वो रुक गया मैन भी अपने घर college friend के घर पर हु कहकर बहाना बना दिया ,

तो रवि से मैं कहने लगी बेड तो एक ही है तुम कहा सोवोगे आज नीचे सो जाना आज ठीक है तो उसने हा कह दी मैं बेड पर सो गई मगर नींद कहा थी बस उसको ऊपर से लेती देखे जा रही थी वो लगभग सौ चुका था !

मैं उठी ओर उसके पास गयीं ओर सीधी उसके ऊपर जाकर लेट गई ओर उसके चेहरे से अपना चेहरा मिला कर कहने लगी रवि मैं तुमसे  बोहोत प्यार करती हूं अपनी जान से भी ज्यादा तुम कभी मुझे धोखा तो नही दोगे मैं अपना सब कुछ छोड़ दूंगी तुम्हारे लिए तो रवि कहने लगा
स्नेहा तुमने मेरे लिए इतना सब किया है मेरी तो ये ज़िन्दगी भी तुम्हारी देन है

मैन तुरंत उसके होठो को चूम लिया, और मानो जैसे मेरा पूरा सरीर उसके बदन में सिमट गया हो मुझे फिर कुछ होश नही रहा रात भर मैं ओर वो एक दुशरे को प्यार करते रहे शुभा उठी तो देखा वो मेरे लिए चाय बना कर ले आया तो मैं कहने लगी aree baby अभी शादी थोड़ी हुई है हमारी जो आप इतनी महनत कर रहे हो !

थोड़ी देर बाद हम दोनों वाहा से निकले और वह अपने घर चला गया मैन उसको बोहोत बार गले से लगाया मगर मैं उस रात की बात को सोच कर उसके सामने जाने से थोड़ी शर्मा रही थी तो वह कहने  लगा अब हम जल्दी शादी कर लेंगे स्नेहा मैं बोहोत खुश हो गयी ! और अब तो रात दिन उसी से phone पर बात करती थी लेकिन कुछ दिन के लिए उसने मुझसे बात नही की

तो मैं बोहोत परेसान हो गयी धीरे धीरे वो मुझसे बात करनी बंद करने लगा मैं बोहोत परेसान रहने लगी रात दिन उसका चेहरा मेरी आँखों के सामने रहता था रो रो कर बुरा हाल हो गया था न घर से बाहर जाती थी घर मे भी किसी से बात नही करती थी ! मैन उस से एक रोज पूछा कि रवि क्या तुम मुझे पसंद नही करते हो मैं तो तुम्हारे बिना रह नही पाती तुम कैसे रह लेते हो

तो उने कोई जवाब नही दिया ओर कहने लगा सब कुछ भूल जाओ यार
इतना सब तो चलता है उसने मेरे प्यार का मजाक बना दिया वो प्यार जो सायद मैन ज़िन्दगी में किसी से नही किया मैन जान देने की ठान ली मगर उस से भी क्या होना था!

कुछ दिन बाद रवि ने किसी ओर लड़की से शादी कर ली मैं अपनी आंखों से वो सब देखती रह गयी बंद कमरे में जैसे चारो तरफ अंधेरा हो मैं खुली हवा में भी ऐसे घुटने लगी थी दोस्तो आखिर मेरी क्या गलती थी जो उसने मेरे साथ धोखा किया मेरा प्यार सच्चा था और जब सच्चा प्यार टूट जाता है तो बोहोत दर्द होता है ज़िन्दगी बोझ लगने लगती है ! मै अबतक उसे भूल नही पाती हूँ

Saturday, November 10, 2018

November 10, 2018

Hindi Love Story Sad Love

hindi love story


मेरी सबसे अच्छी सहेली अनिता मुझसे बोहोत प्यार भी करती थी या यूं कह सकते हैं उसका प्यार सच्चा था मगर वो मेरे लिए बोहोत कुछ कर सकती थी एक दिन जब वक़्त शाम का था तो उसके घर उसे देखने वाले आये हुए थे वो मुझसे कह रही थी के मुझे बोहोत डर लग रहा है क्या करूँ क्या स्नेहा अगर लड़के ने मुझसे कोई सवाल पूछ लिया तो मैं क्या जवाब दूंगी लेकिन ऐसा नही हुआ वो लड़का भी काफी शर्मिला था वो दोनों आपस मे कुछ बात भी नही कर पाए लेकिन कुछ दिन बाद
दोनो की शादी हो गयी

जब मैं शादी में गयी तो मुझे एक लड़का बिहोत देर से घूर रहा था तो मैंने उसको अनदेखा कर दिया लेकिन वो माना नही ओर फिर से मुझे घूरता रहा मुझे गुस्सा आगया तो मैं उसमे पास गई लड़का वैसे दिखने में बोहोत ही सुंदर था मैंने उस से गुस्से में बोला ओ हेलो आप क्या देखे जा रहे हो इतनी देर से कभी कोई लड़की नही देखी क्या
तो वह पुराना dailouge मारने लगा लडकिया तो बोहोत देखी लेकिन आपके जैसी खूबसूरत लड़की पहली बार देख रहा हु

मैं थोड़ी चुप हो गयी लेकिन वो था के बोले जा रहा था आप कहाँ रहती हो क्या करती हो आखिर मैन उसके  किसी भी सवाल का जवाब नही दिवा ओर वाहा से शादी खत्म होते ही अपने घर आकर सो गई दो तीन दिन यू ही गुज़र गए एक रोज जब मैं बस से अपने college जा रही थी तो मैन देखा वही लड़का सड़क पर खड़ा cigrate पी रहा है मैं बस से उतरी क्योकि मेरा कॉलेज भी वही था मैंने उसको देखा तो वह हड़बड़ा गया और cigrate फैक दी मैं चुप चाप वहाँ से चली गयी

जब मैं बाहर आई तो मैंने देखा वो शाम को भी वही पर खड़ा cigrate ही पी रहा था मैंने उसको बोला आपके पास कोई काम नही है इन सबमे time बर्बाद करने के सिवा तो वह कहने लगा sorry आज के बाद नही पियूँगा पक्का वाला promise मैन कहा ठीक है आपकी life है जैसे जीना चाहो जी सकते ही मुझे कोई फर्क नही पड़ता है उसको सायद ये बात बुरी लगी

लेकिन मैं इतना कहकर वाह से वापस अपने घर आ गयी और अपने study में लग गयी कुछ दिन वो मुझे दिखाई नही दिया लेकिन एक दिन जब मैं अपने पापा की scorrty लेकर जा रही थी तो शुभा सुबह कोई नशे में धुत सड़क पर लेटा हुआ था और उसकी bike सड़क के किनारे पड़ी थी पहले तो मैंने सोचा कि क्यों न इसकी हेल्प करी जाए

लेकिन एक मन था कि मरने दे पता नही कोन है फिर मैंने इंसानियत के नाते उसको उठाने का फैसला किया जब मै उसके पास गई उसका चेहरा देखा तो मैं डर गई ये वही लड़का था जो cigrate पी रहा था और मुझे शादी में घूर रहा था फिर मैंने उसकी उठाया और उस से पूछा कि क्या तुम ज़िन्दा हो ! उसने कहा मुझे कहीं सुला दो बोहोत नींद आ रही है
तो मैंने सोचा कही ये मर न जाये

उसको पानी पिलाया ओर अपने दुशरे घर ले गयी वाहा हम पहले रहते थे मैन उसको घर ले जाकर बिस्तर पर लिटा दिया ! ओर वह बोहोत जल्दी सो भी गया मैं उसे वही छोड़ कर चली आयी ! मगर शाम को जब वापस गयी तो देखा वो ओर drink कर रहा था वही पर मेरे आते ही उसने मेरा हाथ पकड़ लिया

उसने मेरे सात जबरजस्ती करने की कोसिस मैं भागने की कोशिश करती रही ओर मेरे हाथ मे एक iron की रॉड आगयी मैन उसके सर पे मार दी , उसको ज़ोर से लग गयी तो वह कहने लगा मैं तुमसे प्यार करता हु क्या तुम्हें मैं पसंद नही मुहगे उसकी ये बात बोहोत ही गुस्सा  दिला गयी तेरे जैसे शराबी से तो मैं ज़िन्दगी भर प्यार न करू इतना कहकर मैं वाहा से जाने लगी

मगर उसने दरवाज़ा बंद कर दिया कर दिया मै उस से जाने की भीख मांगने लगी तो उसने बस इतना कहा कि वो मेरे साथ शादी से पहके ऐसा कुछ नही करेगा बस उसे मेरे गालो को चूमना है बस एक बार मैंने उसे मना कर दिया तो वह खुद के हाथ काटने लगा मे मजबूर हो गयी और उसे kiss करने की इजाज़त दे दी! .

मुझे बोहोत बुरा लगा ज़िन्दगी में पहली बार किसी ने किस किया तो वो भी एक शराबी ने फिर मैं दरवाज़ा खोल कर उस से वहाँ से जाने के लिए कहने लगी वो आराम से चला गया वो पागल मुझसे शादी करने के सपने देख रहा था ! रोज मेरा पीछा करता था

मेरे लिए कभी कुछ खाने के लिए लाता कभी ice cream उसके साथ रहना मुझे भी थोड़ा अच्छा लगने लगा जब उसने वादा किया कि वो अब कभी drink ओ smoking नही करेगा उसने अपना वादा निभाया ये drink smoking सब छोड़ दी

एक दिन मैं  सड़क पर जा रही थी तो मेरे पापा भी मेरे साथ थे मेरे पापा कहने लगे बेटा नारियल खाओगे वो लेने के लिए जाने लगे पर मैन उन्हें रोक दिया ओर में लेने के लिए जाने लगी मेरा पैर फिसला ओर मैं गिर गयी मुझ से फिर चला नही गया पापा मुझे medicine दिला कर घर ले आये